Chinese communist party's ex leader's son said 100 Chinese soldiers killed in Gaalwan


Chinese communist party's ex leader's son said 100 Chinese soldiers killed in Gaalwan

भारत चीन के तनाव को लेकर एक बड़ा ख़ुलासा सामने आ गया है ये ख़ुलासा चौकाने वाला है और इसमें वो सारी बात साफ की गयी है की आखिर 15 जून की रात को galwaan घाटी में क्या हुआ था? आज हमको वो सारी बातें बताएंगे तो CCP(Communist party of china) के नेता के बेटे और पूर्व सैन्य अफसर ने कहीं है आखिर उन्होंने क्या कह दिया आपको बताते है 
जियानली यांग ने कहा 15 june की रात में Indian army ने चीन की सेना को बहुत मारा और 100 से ज्यादा सैनिकों की हत्या कर दी आपको बता दें चीन ने अपने सैनिकों की मारे जाने की पुष्टि की है पर संख्या नहीं बताई थी जियानली यांग ने तो ये भी कह डाला की ये संघर्ष बहुत भयंकर था जितना आपको बताया नहीं जा रहा जानकारी के लिए बता दें की अमेरिकी एजेंसी ने भी ये पुष्टि की थी की china के 45 जवान मारे गए है और हाल ही में हुए News Week के खुलासे में ये संख्या 60 तक हो सकती जियानली यांग ने खुद भी बताया की किस तरह यहाँ चीन के सैनिकों को उनका सम्मान नहीं मिलता और उनके शवों को छुपाया जाता है |
जियानली यांग का कहना है चीन की राष्ट्रपति Xi jinping बहुत दबाव में है और उनको इस बात का डर है की कहीं CCP में विद्रोह ने हो जाये और उधर भारत ने भी कहा था की उसने अपने 20 जवान खोये |
फिलहाल उसके बाद से दोनों देशों में कई बार फायरिंग व झड़प  की खबरें आई है वही चीन का दावा है की भारत से कहीं गुना ताकतवर चीन है पर उधर भारत भी दावा करहा है की उसने 6 मुख्य चोटियों पर अपनी बढ़त बना ली है फिलहाल अभी ये विवाद सर्दियों तक जारी रहने की उम्मीद की जा रही है वही दोनों देशों ने साफ़ कर दिया है वो सर्दियों में भी अपने सैनिकों को वही पर रखेंगे
कल हुई कोर कमांडर की बात चीत ने साफ़ करदिया की चीन पांगोंग झील से पीछे नहीं हटेगा वही भारत बार बार वापस जाने को कहा रहा है यही नहीं विशेषज्ञ का मानना है की भारत और चीन में Limited war होने की उम्मीद है जिसे टाला नहीं जा सकता 
बतादें कहीं कहीं पर दोनों सेना एक दूसरे की Firing range में है जहाँ दूरी बस 300 मीटर की है  रक्षा मामलो के जानकर बताते है की इस तरह की स्थिति बहुत ख़राब होती है एक सैनिक की गलती बहुत भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है