National sports day आज है और आज हम इसके बारे में और भारतीय खेल इतिहास के बारे में बहुत ही रोचक चीजों को जानने वाले हैं भारत में खेल जगत में होने वाले भेदभाव और परिवारवाद की भी आलोचना करेंगे क्योंकि भारतीय खेल जगत में आपको ऐसी चीजें भी देखने को मिलने वाली है जो आपको स्पोर्ट्स डे मनाने को लेकर एक अजीब सा विरोधाभास पैदा कर देती है तो आज हम इसी के बारे में बात करेंगे और आज हम बताएंगे कि किस तरह भारत ने खेल जगत में काफी नाम कमाया


Hockey  का बादशाह


भारत  का राष्ट्रीय खेल हॉकी है लेकिन लोकप्रिय खेल क्रिकेट है और यही बात है कि लोग ज्यादातर क्रिकेट को देखना ज्यादा पसंद करते हैं और भारत में हॉकी को देखने वालों की संख्या लगातार कम होती जा रही है पर फिर भी भारत के खिलाड़ियों ने हमेशा हॉकी पर अपना नाम शीर्ष पर रखा है हॉकी की कोई भी सीरीज ले लीजिए आप वहां पर भारत का नाम एक अच्छे पायदान पर जरूर मिलने वाला है और ऐसे में भारत हॉकी का बादशाह बन गया इसीलिए शायद यही कहा जाता है कि भारत का राष्ट्रीय खेल हॉकी है और लोकप्रिय खेल क्रिकेट है


Cricket में कामियाबी 


भारत लगातार खेल जगत में अपने जीत के पश्चिम को लहराता गया लेकिन एक वक्त था जब भारत क्रिकेट के मामले में काफी पीछे हुआ करता था आपको बता दें कि भारत अब वर्ल्ड कप जीत चुका है और वह भी दो बार 

 लेकिन हाल ही में हुए प्रदर्शन में भारत एक बार और वर्ल्ड कप को लेने से चूक गया लेकिन खेल जगत में ऐसी चीजें होती रहती है इसलिए हमें ऐसी चीजों से निराश बिल्कुल नहीं होना चाहिए लेकिन आज भारत ने जिस तरह खेल जगत में अपना नाम कमाया उसमें क्रिकेट का बहुत बड़ा योगदान है भारत ने क्रिकेट को एक अलग पायदान पर खड़ा कर दिया और यह कहा जाए कि क्रिकेट को विश्व पहचान दिलाने में भारत का बहुत बड़ा हाथ है


IPL एक ऐसी सीरीज जो दुनिया खेलती है 


 भारत में क्रिकेट के खेल जगत में जो सबसे बड़ा योगदान दिया वह था आईपीएल एक एक ऐसा खेल जिसको शायद ही किसी ने कभी सोचा हो जिसमें सभी टीम के खिलाड़ी अपनी एकता का प्रदर्शन के करने के लिए सभी टीम एक दूसरे के खिलाड़ियों में बदल बदल कर लेंगे और उसके बाद खेला जाएगा आईपीएल यह एक नई सोच का किसी की थी जिसको यकीनन ऊपर लाना बहुत मुश्किल था क्योंकि भारत को वैसे भी कई पश्चिमी देश छोटा समझ के उसका साथ नहीं देते लेकिन इस बार बिलकुल ही विपरीत हुआ जो देश क्रिकेट खेलता था उसके खिलाड़ी आईपीएल जरूर खेलते थे अगर हम कुछ गिने-चुने देशों को हटा दें भारत ने दिया ऐसी इंडियन प्रीमियर लीग जिसको सारे खिलाड़ी दिल से खेलने लगे और आज उसकी सीरीज को 12 से 13 साल हो गए  अपने आप में एक रिकॉर्ड है बाकी इस बार आईपीएल यूएई में होगा जिसमें शायद इतनी मजा ना आए जितनी भारत में दर्शकों को देखकर लोगों को आती थी


भारत पर खेल जगत में underworld का कबज़ा ? 

 जब पूरी दुनिया भारत के खेल जगत का लोहा मानती है पर उस पर कई बार आरोप भी लगे हैं कि भारत में क्रिकेट इंडस्ट्री या फिर और भी कई खेलों पर अंडरवर्ल्ड का कब्जा है और कई बार भारत को इसके लिए शर्मिंदा भी होना पड़ा और कई बार ऐसी घटनाएं भी सामने आए जिसमें फिक्सिंग के लिए भी पकड़े जाने पर भी काफी ज्यादा सवाल खड़े हुए


भारत खेलजगत में भी Nepotism ? 


 जब पूरी दुनिया जानती है कि भारत का खेल जगत एक बहुत बड़ा दिग्गज खिलाड़ियों का समूह है तो ऐसे में इस जगत पर एक ऐसा आरोप लगा है जिससे ना तो एक खिलाड़ी इंकार कर सकते हैं और ना इस देश की जनता वह आरोप है परिवारवाद का जी हां यह कैसा आरोप है जो हर बार कई खिलाड़ियों पर लगता आया है और इसकी सफाई भी कोई नहीं दे सकता क्योंकि कहीं ना कहीं उनके यह सब पता है कि खिलाड़ी परिवारवाद करते हैं ऐसे में कई बार लोगों का कहना है कि खिलाड़ी अपने बच्चों को आगे भेज देते हैं जिनमें से जो टैलेंटेड बच्चे होते हैं उनको खेलने का मौका नहीं मिलता और वह अपने देश के लिए खेल नहीं पाते हैं यह कैसा आरोप है  जो  खेल जगत को शर्मसार कर देता है और कहीं ना कहीं हमें भी लगता है की खेलजगत में सबको बराबरी का हक़ है