राम मंदिर कितने दिन में बन जायेगा और इसके क्या फायदे होंगे ?
राम मंदिर लोगों  ने 500 साल तक इंतजार किया और इंतजार आसान नहीं था |  लेकिन हम भारतीयों ने ऐसा इंतजार किया और हरदम हमने कानूनों का भी पालन किया जिससे देश की धर्मनिरपेक्षता पर आंच ना आए पर हम बताने वाले हैं आपको राम मंदिर से जुड़े कई तथ्य और जो लोग सवाल पूछ रहे हैं आखिर राम मंदिर कितने दिन में बनकर तैयार हो जाएगा और क्या इसपे समय लगेगा इसकी क्या कीमत क्या इससे देश को फायदा होने वाला है क्योंकि बहुत से बुद्धिजीवी बहुत उदारवादी लिबरल्स लोग जो हैं वह पूछ रहे हैं कि भरा राम मंदिर बनवाने से क्या फायदा होगा और इसके क्या मायने होंगे जो सरकार इसके पीछे इतना तो हाथ धोकर पीछे पड़ी है शायद वह भूल गए हैं कि यह सरकार का नहीं सुप्रीम कोर्ट का फैसला था लेकिन आज हम सारी चीजों के जवाब देने वाले हैं वह सभी उदारवादी के लोगों को सही मायने में सही चीज बताने वाले हैं क्योंकि भारत की मीडिया की तरह हम नहीं है कि हर बार बस नाम लेते गए और बस अपने टीआरपीपर हम राम मंदिर के बारे में हर और हर एक फायदा जो देश की जनता को मिलने वाला है उसके बारे में बताएं तो सबसे पहले बात कर लेते हैं राम मंदिर की तो लेकिन उससे पहले हम आपको एक उदाहरण देना चाहेंगे लंदन में जोकि बहुत पहले बनाता बीसवीं सदी में हालांकि साधन की कमी थी और वह काफी बड़ा मंदिर है और उसको बनाने में लगभग डेढ़ साल लग गए आ सकते हैं वह भी राम मंदिर जितना ही था और उसकी भी उतनी ही मानता है और संसाधनों की कमी थी कि यह समझ लीजिए कि डेढ़ साल में बन गया और अगर बात करने का समय जो बताया जा रहा है वह बताया जा रहा है 3 साल तक जाएगा जिस वक्त संसाधन हमारे देश के पास बहुत सारे हैं और इतनी मशीनें हैं अत्याधुनिक कि हम इस मंदिर को आसानी से बना सकते हैं


हम बात करने वाले हैं भारत के उन उदारवादी लोगों के बारे में जो कह रहे हैं उसमें राम मंदिर की भूमि की जगह अस्पताल क्यों नहीं बनवा देते कुछ दरबारी पत्रकार हैं या अपने बुद्धिजीवी कह सकते हैं जिन्होंने सरकार के हर काम का आलोचना करने का ठेका ले लिया हम आपको एक चीज बताना चाहेंगे कि पत्रकारिता मतलब हर बार सरकार की आलोचना करना ही नहीं होता और हर बार सरकार की आलोचना करना सही है एक हद तक जब तक को किसी की आस्था उस पर नहीं जुड़ी लेकिन दरबारी पत्रकार अपने आप को एक उदारवादी लिबरल समझकर ऐसी बातों का उपयोग करते हैं हालांकि उनके पास आंकड़ों की कमी तत्वों की कमी जरूर होती है जो कि हम आपको जरूर देंगे अपने इस ब्लॉग के जरिए तो सबसे पहले आपको बता दें कि राम मंदिर में बनने के लिए जब राम मंदिर बन के तैयार हो जाएगा तब जब राम मंदिर जो पूरी तरह से बन जाएगा तब आखिर क्या क्या फायदा होगा तो सबसे पहले बता दे राम मंदिर राम मंदिर ही नहीं बन रहा है राम मंदिर के साथ एक अंतरराष्ट्रीय बस अड्डा हवाई अड्डा जैसी कई बड़े-बड़े चीजें बन रही हैं और दया का स्ट्रक्चर अयोध्या का भी विकास होगा जो कि एक बहुत बड़ी बात है अपने आप में अयोध्या का विकास होगा सकते हैं कि वहां रोजगार का बहुत बड़ा बनेगा और मंदिर ही नहीं ऐसी कई जगह वहां पर रोजगार की एक उपलब्धि मिलेगी और आपको थोड़ी और बात बताते हैं कि भारत में हर साल लगभग एक करोड़ लोग आते हैं भारत में पर्यटक के रूप में राम मंदिर के बन जाने के बाद यह संख्या दोगुनी से भी ज्यादा होने की संभावना बताई जा रही है और ऐसे में आपको समझ आ गया होगा कि पर्यटन विभाग कोई अच्छा खासा फायदा होगा और यही बात एक अपने आप में देश के लिए एक अच्छी बात है कई पूरे विश्व में जितने भारतीय हैं वह जरूर देखने आएंगे ही नहीं विदेशी लोग भी भारत में इस राम मंदिर भव्य राम मंदिर को जरूर देखने आएंगे और ऐसे में यह एक बहुत बड़े भारत के लिए अवसर भी होगा और अब बात कर लेते हैं थोड़ा सेकुलर लोगों के बारे में क्योंकि इनकी आईडियोलॉजी एक अलग विचारधारा की विचारधारा को का अनुसरण करते हैं काम पालन करते हैं और उसी के सहारे यह भारत में अपना एक धर्म विरोधी प्रोपेगेंडा चलाते हैं हमारे ब्लॉक में जो भाषा यूज करते हैं वह थोड़ी अलग होती है बाकी हम सच को ही बताते हैं हम यहां पर किसी एक पक्ष का सहारा नहीं लेना चाहते क्योंकि और आपको एक और चीज बता दे बहुत से लोग बोल रहे थे कि प्रधानमंत्री का राम मंदिर में जाना एक गलत बात होगी क्योंकि यह देश की धर्मनिरपेक्षता को खतरा है लेकिन आपको बता दें कि भारत के प्रधानमंत्री जनता के मंत्रियों और अगर जनता चाहती है तो उनको वही करना होगा और ऐसा नहीं है कि प्रधानमंत्री मस्जिदों में भी नहीं गए कई बार
उन्होंने बाहर बाहर से आए विदेशी नागरिकों को भी मस्जिदों का दौरा कराया है तब देश की धर्मनिरपेक्षता पर आंच नहीं आई लेकिन हिंदुत्व पर ही क्यों हम यहां पर किसी भी धर्म का पक्ष नहीं ले रहे हैं लेकिन हम एक बात बता रहे हैं कि ऐसा करने से कुछ भी नहीं होगा देश की धर्मनिरपेक्षता पर आज भी नहीं आएगी लेकिन कुछ बुद्धिजीवी हैं जो समाज सेवक बनते हैं अपने आप को लेफ्ट कहते हैं उनके लिए यह बात थोड़ी सी चुगने वाली है और राम मंदिर बहुत ही पुराना मंदिर है आपको बता दें कि बाबर ने जो कि विदेशी आक्रमणकारी था मुझे पता नहीं क्यों भारत के लोग उसको अपना भगवान समझने लगे हैं उसने भगवान राम के मंदिर को गिरा दिया और गिनाने के बाद अपने नाम की एक मस्जिद बनवा दी हालांकि कोर्ट ने न्यायिक फैसला किया और सुप्रीम कोर्ट ने दोनों को ही एक जगह दीदी और सबसे बड़ी बात है कि मस्जिद को जगह बनाने के लिए ज्यादा बड़ी जगह दी जो अपने आप में एक बहुत ही ज्यादा आप कह सकते हैं कि एक अच्छी बात है एक निरपेक्षता वाली बात है खाना कि ऐसा बहुत से लोग कह रहे हैं कि यह देश के अखंडता के लिए एक खतरा है ऐसे लोगों को हमारा एक संदेश जरूर सुने कि हम आपको एक चीज बताना चाहते हैं कि किसी भी देश में किसी भी धर्म का मंदिर का निर्माण होता है या किसी भी धार्मिक धार्मिक स्ट्रक्चर का निर्माण होता है तो यह देश के लिए बिल्कुल भी नहीं है बल्कि यह तो देश की आप ऐसा कह सकते अभिव्यक्ति की आजादी है अभिव्यक्ति की आजादी का एक एक अधिकार है जो सबको मिला हुआ है और हर इंसान भारत में स्वतंत्र है अपने धर्म का पालन करने के लिए आपको यह ब्लॉक कैसा लगा हमें अपनी राय जरूर दे दीजिए टिप्पणी करिए हमारी ब्लॉक पर और से ज्यादा शेयर कीजिए कि ऐसे कई लोग हैं जो जो इसे जाना चाहिए जो देश के लोगों को जानना चाहिए कि आखिर देश में राम मंदिर के बनने का क्या फायदा है कितने दिन में बनेगा ऐसी कई चीजें हमने आपको बताई  धन्यवाद